मसूरी भाजपा कार्यकर्ताओं ने भारतीय जनसंघ के संस्थापक डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि पर किया याद

मसूरी भाजपा कार्यकर्ताओं ने भारतीय जनसंघ के संस्थापक डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि पर किया याद

भाजपा कार्यकर्ताओं ने भारतीय जनसंघ के संस्थापक डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि मसूरी महात्मा योगेश्वर शिशु मंदिर विद्या मंदिर के सभागार में आयोजित कार्यक्रम में मसूरी भाजपा मंडल अध्यक्ष मोहन पेटवाल के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी के चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किए।

इस दौरान वक्ताओं ने डॉ मुखर्जी के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कार्यकर्ताओं से उनके आदर्शों को जीवन में अंगीकार करने की अपील की। इस मौके पर गोष्ठी का आयोजन किया गया जिसमें भाजपा के वरिष्ठ नेता मदनमोहन शर्मा ने डॉ. मुखर्जी के जीवन पर प्रकाश डाला।

उन्होने बताया कि डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के जीवन संघर्ष पर कहा कि डॉ. मुखर्जी ने दिल्ली से लेकर सड़क और सड़क से लेकर श्रीनगर तक भारतीय संविधान के विभाजनकारी प्रावधानों का पुरजोर विरोध किया।

उन्होंने एक निशान, एक विधान व एक प्रधान नारा दिया। मसूरी भाजपा मंडल अध्यक्ष मोहन पेटवाल ने कहा की श्यामा प्रसाद मुखर्जी एक महान शिक्षाविद और चिंतक के साथ जनसंघ के संस्थापक भी थे। उन्हें आज भी एक प्रखर राष्ट्रवादी और कट्टर देशभक्त के रूप में याद किया जाता है।

डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी सच्चे अर्थों में मानवता के उपासक और सिद्धांतों के पक्के इंसान थे। संसद में उन्होंने सदैव राष्ट्रीय एकता की स्थापना को ही अपना प्रथम लक्ष्य माना था।

संसद में दिए अपने भाषण में उन्होंने पुरजोर शब्दों में कहा था की राष्ट्रीय एकता की धरातल पर ही सुनहरे भविष्य की नींव रखी जा सकती है।

रिपोर्टर : सुनील सोनकर, मसूरी