जहानाबाद : भाकपा माले कार्यकर्ताओं ने मनाया दिवंगत कामरेड चारु मजूमदार का 50वाँ शहादत दिवस

जहानाबाद : भाकपा माले कार्यकर्ताओं ने मनाया दिवंगत कामरेड चारु मजूमदार का 50वाँ शहादत दिवस

जहानाबाद : भाकपा माले कार्यकर्ताओं ने मनाया दिवंगत कामरेड चारु मजूमदार का 50वाँ शहादत दिवस
जहानाबाद : भाकपा माले कार्यकर्ताओं ने मनाया दिवंगत कामरेड चारु मजूमदार का 50वाँ शहादत दिवस

जहानाबाद : जिले के मखदुमपुर प्रखंड अंतर्गत पलेया महादलित, सुमेरा, खसखोरी, भैख, डकरा,सोलहंडा, सहित कई गावों में भाकपा माले कार्यकर्ताओं ने अपने दिवंगत कॉमरेड चारु मजूमदार का 50वाँ शहादत दिवस मनाया।

नगर पंचायत मखदुमपुर में कार्यक्रम की शुरुआत पार्टी झंडोतोलन से शुरू हुआ। बारी बारी से उपस्थित लोगो ने उनके चित्र पर माल्यार्पण कर उनको श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए संकल्प पत्र का पाठ किया गया। 

मौके पे उपस्थित नगर पार्षद और इंकलाबी नौजवान सभा के राज्य सह सचिव वेंकटेश शर्मा ने लोगो को संबोधित करते हुए बताया 28जुलाई कॉमरेड चारु मजुमदार का शहादत दिवस है।

भारतीय क्रांति के महानायक चारु मजुमदार भारतीय कम्युनिस्ट आंदोलन के समूचे इतिहास में पहले और एकमात्र कम्युनिस्ट नेता थे, जिन्होंने भारतीय क्रांति की सजीव तस्वीर पेश की थी।

और इस महानायक के पीछे जैसे जादू के जोर से खींची चल पड़ी थी दसियों हजार नौजवान कम्युनिस्टों की एक समूची पीढ़ी, जिस पीढ़ी ने स्वेच्छा से शहादत कबूल की थी।

ठीक जिस तरह भगत सिंह की लाश को अंग्रेजों ने रातोंरात जला दिया था, उसी तरह चारु मजुमदार के शव को भी कड़े पुलिस पहरे में रातोंरात भस्मीभूत कर दिया गया। उनके हजारों- हजार प्रशंसक उनकी मृत देह पर दो बूंद आंसू और श्रद्धा के दो सुमन भी न चढ़ा सके।"

उन्होंने कहा कि उनकी शहादत के बाद भी न तो नक्सलबाड़ी आंदोलन को खत्म किया जा सका और न ही उसकी ताप व ऊर्जा से पैदा हुई उस नई पार्टी को, जिसे हम सभी भाकपा-माले के रूप में जानते हैं।

सुमेरा में दयानन्द प्रसाद ,बेला बीरा में प्रशांत शर्मा, भैख में अर्जुन भर्ती,डकरा में सतेंद्र रविदास,सोलहंडा में अशोक कुमार, पलिया में सन्नी भदानी, सोनू कुशवाहा,भागीरथ मांझी, मुन्ना देवी, नीरज शर्मा,पिंटू चौधरी सहित कई कार्यकर्ता मौजूद रहे।

जहानाबाद से मंटू कुमार