सरस्वती देवी मैमोरियल ट्रस्ट की अध्यक्ष डॉ रेनू शरण के नेतृत्व में गया योग दिवस

सरस्वती देवी मैमोरियल ट्रस्ट की अध्यक्ष डॉ रेनू शरण के नेतृत्व में गया योग दिवस

सरस्वती देवी मैमोरियल ट्रस्ट की अध्यक्ष डॉ रेनू शरण के नेतृत्व में गया योग दिवस
सरस्वती देवी मैमोरियल ट्रस्ट की अध्यक्ष डॉ रेनू शरण के नेतृत्व में गया योग दिवस

हल्द्वानी : सरवती देवी मैमोरियल ट्रस्ट की अध्यक्ष डा रेनू शरण ने मनाया अन्तर्राष्ट्रीय योगा दिवस। आज अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस पर ट्रस्ट की अध्यक्ष ःडा रेनूशरण ने मुख्य अतिथि डा दयाल शरण संयुक्त निदेशक, आर.एफ.एस.एल. उत्तराखंड द्वारा योग गुरु महर्षि पतंजलि को स्मरण कर दीपप्रज्वलित कर ,ट्रस्ट के समस्त जन ने योगा कार्यक्रम में योग किया।

योगा डा रेनू शरण के नेतृत्व में कराया गया।इसके पश्चात डा दयाल शरण ने अपने कथन में योग के बिषय में विस्तृत जानकारी दी।डा रेनू शरण ने अपने शब्दों में कहा ।

कि योग शब्द संस्कृत भाषा का शाब्दिक अर्थ है ।योग एक आध्यात्मिक, शारीरिक,व मानसिक अभ्यास है।खासतौर पर इन्द्रियों को नियंत्रण करं एकाग्रचित करता है।प्रारंभ में महर्षि पंतजलि एक भारत के मुनि थे।इनका समय लगभग 200ई.पू. माना गया है।

इन्हें शेष नाग का अवतार भी माना गया है।इनके द्वारा तीन मुख्य ग्रंथ संस्कृत में लिखे गये थे।जिनमें योग सूत्र इनकी महान तम रचना है।इनके द्वारा योग को जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा बनाने पर जोर दिया गया है।

इन्होंने योग को रोग निवारक तथा स्वस्थ रहने का अस्त्र बताया जिससे व्यक्ति दीर्घायु और निरोगी रहता है।21जून भारत में सबसे बडा दिन माना जाता है भारत के वर्तमान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 27सितम्बर2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने भाषण के दौरान अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का विचार प्रस्तावित किया।

संयुक्तराष्ट्र मे भारत के राजदूत अशोक कुमार मुखर्जी द्वारा अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर एक मसौदा पेश किया गया मसौदे को 177 देशों से समर्थन मिला ,जो किसी भी यू एन जी ए प्रस्ताव के लिए प्रोत्साहित करते हैं।।

हिन्दूस्वयं सेवक संघ द्वारा आयोजित वार्षिक कार्यक्रम 27 राज्यों में 350 अलग अलग जगहों पर आयोजित किया गया था इसमें मेयर,सीनेटर, राज्य के राज्यपालों सहित 58 निर्वाचित अधिकारियों ने भी भाग लिया था।

भारत में पहला अंतरराष्ट्रीय योगा दिवस दिल्ली स्थित राजपथ पर पीएम नरेन्द्रमोदी के साथ 34 देशों के गणमान्य व्यक्तियों के साथ मनाया गया था। जिन्होंने 21 योगासन में भाग लिया और बढावा दिया।इस योजना ने भारत के लिए दो विश्व रिकॉर्ड बनाए। पहला-दुनिया की सबसे बड़ी योग कक्षा होने के लिए।

दूसरा- 84 राष्ट्रीयताओं के लोगों की भागीदारी होने के लिए, कोविड -19 से बचने के लिए सकारात्मक रहना और इम्यूनिटी बढाना दोनों ही बेहद जरूरी है।इस लिये संयुक्त राष्ट्र संघ की ओफीशियल बेबसाइट द्वारा अंतरराष्ट्रीय योगा दिवस 2021 का थीम रखा गया था।मानव तंदुरुस्ती और कल्याण के लिए योग उत्तम है।

इस शुभअवसर पर ट्रस्ट के सचिव धीरज शरण, अल्कारस्तौगी ,अनुराधा, कृष्णा, राहुल, अहान ,वेदांश तथा समस्त ट्रस्ट की टीम ने स्थित आगरा, किच्छा, पंचकुला, अहमदाबाद, मुरादाबाद, सभी सदस्यों द्वारा योगा किया गया ।तथा इस मौके पर समस्त सम्मानित जन उपस्थित थे।

ब्यूरो चीफ : एम सलीम खान की रिपोर्ट