खत्म हुई पर्यावरण मित्रों की हड़ताल पटरी पर लौटी शहर की सफाई व्यवस्था

खत्म हुई पर्यावरण मित्रों की हड़ताल पटरी पर लौटी शहर की सफाई व्यवस्था

खत्म हुई पर्यावरण मित्रों की हड़ताल पटरी पर लौटी शहर की सफाई व्यवस्था
खत्म हुई पर्यावरण मित्रों की हड़ताल पटरी पर लौटी शहर की सफाई व्यवस्था

रुद्रपुर : पांच सूत्रीय मांगों को लेकर हड़ताल पर बैठे पर्यावरण मित्रों की हड़ताल आखिकार सम्पात हो गई। बीते चार दिन से हड़ताल पर बैठे

इन सफाई कर्मचारियों और नगर निगम रुद्रपुर के मुख्य नगर आयुक्त विशाल मिश्रा की मध्यस्थता के बाद पर्यावरण मित्रों ने अपनी हड़ताल स्थगित करने का ऐलान कर दिया।इन सफाई कर्मचारियों की हड़ताल से शहर की साफ-सफाई व्यवस्था चरमरा गई थी।

जिसकी वजह से शहर में जगह-जगह गंदगी का साम्राज्य स्थापित हो गया था। निगम प्रशासन ने तत्परता दिखाते हुए उनकी मांगों के जल्द समाधान का आश्वासन दिया है।

एक जुलाई से उत्तराखंड स्वच्छकार कर्मचारी संघ के बैनर तले संविदा और ठेके पर काम रहें पर्यावरण मित्रों ने डोर टू डोर कूड़ा एकत्रीकरण करने वाले 130 पर्यावरण मित्रों को काम से हटाने

महंगाई भत्ता नहीं मिलने, संविदा कर्मियों को छुट्टी प्रस्तावित करने,ठेका प्रथा समाप्त करने कर उन्हें अवकाश देने और ठेकेदारी प्रथा के 200 कर्मियों को स्वच्छता समिति में शामिल करने का मुद्दा उठाया गया था।

और पिछले चार दिनों से वह हड़ताल पर चले गए थे। पर्यावरण मित्रों की हड़ताल के चलते जगह जगह कूड़े के ढेर लगे हुए थे। जिससे शहर की सफाई व्यवस्था चरमरा गई थी।

सोमवार को इस मामले को गंभीरता से लेते हुए नगर निगम के मुख्य नगर आयुक्त विशाल मिश्रा और कर्मचारी संघ के अध्यक्ष सुनील रोहतकी की मौजूदगी में वार्ता शुरू हुई।

जिसमें निगम प्रशासन ने मंहगाई भत्ते का शासनादेश जारी होने, संविदा और ठेकेदारी प्रथा के पर्यावरण मित्रों के अवकाश के मुद्दे का एक माह के भीतर समाधान करने और 200 ठेका प्रथा के पर्यावरण मित्रों को स्वच्छता समिति में शीघ्र शामिल करने का आश्वासन दिया।

वही मेयर रामपाल सिंह ने फोन पर 130 संविदा पर्यावरण मित्रों को निकालें जाने के मामले को लेकर मुख्यमंत्री से बातचीत करने का भरोसा दिलाया।

जिसके बाद पर्यावरण मित्रों ने हड़ताल को स्थगित करने का ऐलान कर दिया।इस दौरान उमेश कुमार, श्याम चरन, राजीव, राकेश, विक्रम सिंह आदि मौजूद थे।यह जानकारी संघ के अध्यक्ष सुनील रोहतकी ने दी।

ब्यूरो चीफ : एम सलीम खान की रिपोर्ट