अंकिता भंडारी हत्या मामले में मसूरी में लोगों का प्रर्दषन, आरोपियों को फांसी की सजा देने की कर रहे मांग

अंकिता भंडारी हत्या मामले में मसूरी में लोगों का प्रर्दषन, आरोपियों को फांसी की सजा देने की कर रहे मांग

अंकिता भंडारी हत्या मामले में लोगों का विरोध लगातार बढ़ रहा है जिसको लेकर मसूरी में मसूरी मजदूर संघ द्वारा मसूरी के पिक्चर पैलेस चौक पर एकत्रित हुए और अंकिता के हत्यारों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की वहीं मजदूरों और विभिन्प्न संगठनों के लोगो द्वारा भाजपा सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की वह अंकिता भंडारी को हत्यारों को फंासी कि सजा देने की मांग की। उन्होंने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से आरोपी के रिजार्ट को ध्वस्त करने की मांग की ।

उन्होंने कहा कि अंकिता भंडारी के कातिल वंनत्रा रिसॉर्ट मालिक पुलकित आर्य अंकित गुप्ता और सौरव ने अंकिता की हत्या की इन तीनों के रिसॉर्ट की कुछ दूरी पर अंकिता को चीला शक्ति नहर में फेंक दिया इसके बाद मामले को लगातार लोगों को गुमराह कर रहे हैं। पुलिस द्वारा पुलकित आर्य के साथ अन्य दो को गिरफ्तार कर हत्या सहित कई धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है.

मामले की आगे की जांच की जा रही है परंतु लोगों का गुस्सा साफ तौर पर देखा जा रहा है। मामले में बीजेपी नेता के पुत्र पुलकित आर्य को भी गिरफ्तार किया है

पुलकित आर्य विनोद आर्य का बेटा है विनोद आर्य बीजेपी के ओबीसी मोर्चा के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य हैं इसके साथ ही यूपी के सह प्रभारी हैं दूसरा बेटा अंकित आर्य को भी राज्य मंत्री दर्जा प्राप्त है अंकित आर्य को तीरथ सिंह रावत के मुख्यमंत्री रहते हुए राज्य पिछड़ा आयोग का उपाध्यक्ष पद दिया गया था।

मजदूर नेता आरपी बडोनी और प्रदीप भंडारी ने कहा कि अंकिता भंडारी के हत्यारों को जल्द से जल्द सजा दी जानी चाहिए ।

उन्होंने कहा कि जिस तरीके से भाजपा के नेता द्वारा अकिंता भंडारी की हत्या को अंजाम दिया है वह बहुत ही शर्मनाक है ऐसे में अंकिता के साथ दुष्कर्म कर उसको नहर में फेंक दिया गया है उन्होंने कहा कि अंकिता का शव अभी तक बरामद नहीं हुआ है ऐसे में आरोपी ने खुद इस बात की पुष्टि की है कि उनके द्वारा अंकिता का नदी में फेंका गया है .

उन्होंने पुष्कर सिंह धामी से कहा कि ऐसे आरोपियों को किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं किया जाना चाहिए। उन्होने कहा कि भाजपा के बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ की नीति साफ देखी जा रही है भाजपा के नेताओं द्वारा ही मासूम बेटियों को निशाना बनाया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि जब तक अंकिता भंडारी का शव बरामद नहीं हो जाता और आरोपियों को फांसी की सजा नहीं होती तब तक उनको प्रदर्शन जारी रहेगा।

रिपोर्टर : सुनील सोनकर