फर्जी फेसबुक बुक आईडी बनाकर बुना प्रेम जाल फिर बलात्कार अब पहुंचा जेल जानिए क्या है पूरा मामला

फर्जी फेसबुक बुक आईडी बनाकर बुना प्रेम जाल फिर बलात्कार अब पहुंचा जेल जानिए क्या है पूरा मामला

फर्जी फेसबुक बुक आईडी बनाकर बुना प्रेम जाल फिर बलात्कार अब पहुंचा जेल जानिए क्या है पूरा मामला
फर्जी फेसबुक बुक आईडी बनाकर बुना प्रेम जाल फिर बलात्कार अब पहुंचा जेल जानिए क्या है पूरा मामला

गदरपुर : थाना गदरपुर पुलिस ने दानिश उर्फ दीपक पुत्र नन्ने निवासी स्कैनिया शिव मंदिर कालौनी में रहने वाले एक युवक को गिरफ्तार किया है।

आरोपी दानिश उर्फ दीपक ने करीब 16 वर्ष पहले सवाई की मंडी स्वार जिला रामपुर उत्तर प्रदेश से स्कैनिया शिव मंदिर में बस गया थे, और यहां आकर टैक्सी स्टैंड में एफ जी मै टैक्सी चलाया करता था तथा इसके माता पिता फल सब्जी की ठेली लगाकर फल बेचने का काम किया करते थे। 

वरिष्ठपुलिस अधीक्षक डॉ मंजूनाथ टीसी ने इस मामले का खुलासा करते हुए बताया कि साल 2017 में एक महिला से इसकी पहचान हुई। जिसने अपना नाम दानिश की जगह दीपक बताया तथा खुद को अविवाहित बताया और उसको अपने प्रेम जाल में फंसाकर दोस्ती कर ली।

धीरे धीरे दोस्ती के नाम पर उस महिला से जो धौलपुर रुद्रपुर में चावला की गता फैक्ट्री में नौकरी करती है, बहाने बनाकर हर माह पैसे की मांग करने लगा तथा दीपक नाम की फेसबुक आईडी बनाकर महिला से अश्लील बातें तथा अश्लील फोटो भी भेजता रहा इसके साथ ही दीपक उर्फ दानिश उसे ब्लैक मेल करता रहा।

एस एस पी ने बताया कि इस मामले में महिला को जानकारी होने के बाद कि यह शादी शुदा है और इसके तीन बच्चे हैं, और यह दीपक नहीं बल्कि दानिश का नाम का व्यक्ति हैं। इसके बाद 21 सितंबर 22 को महिला द्वारा प्रार्थना पत्र देकर थाना गदरपुर में मुकदमा दर्ज कराया।

थाना गदरपुर पुलिस ने तहरीर के आधार पर दानिश उर्फ दीपक नाम से अपनी फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर लव जिहाद में फंसाकर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाना और अश्लील वीडियो बनाकर उसे ब्लैक मेल

कर पैसे वसूलना न देने पर उसके साथ गाली-गलौज कर जान से मारने की धमकी देने के संबंध में थाना गदरपुर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मुकदमा संख्या 221/22 धारा 153ए,बी 376/417/420/504/506 आईपीसी बनाम दानिश पुत्र नन्ने निवासी स्कैनिया पंजीकृत किया गया है।

मामले की गंभीरता को देखते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ मंजूनाथ टीसी द्वारा नामजद आरोपी को तत्काल प्रभाव से गिरफ्तार करने के लिए निर्देशित किया गया।

उक्त मामले में अपर पुलिस अधीक्षक काशीपुर के निर्देशन और पुलिस क्षेत्राधिकारी बाजपुर भूपेंद्र सिंह भंडारी के निर्देशन पर आरोपी को गिरफ्तार करने के निर्देश दिए गए थे।

थाना प्रभारी गदरपुर राजेश पांडे द्वारा पुलिस टीम के साथ मिलकर इस मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी गई। जिसके बाद 22 सितंबर 22 को आरोपी दानिश को कस्बा गदरपुर से गिरफ्तार कर लिया गया।

आरोपी से पूछताछ में पता चला कि उक्त महिला धौलपुर रुद्रपुर में सनी चावला की गता फैक्ट्री में नौकरी करतीं हैं। जहां उसकी मुलाकात एक अन्य महिला से हुई जिसके जरिए से मैंने महिला का मोबाइल फोन नंबर लिया और खुद का नाम दीपक बताया।

दूसरी फेसबुक आईडी बनाकर मैंने महिला से बात करके खुद को हिन्दू धर्म का बताकर अपने प्रेम जाल में फंसा लिया। महिला ने मुझसे शादी शुदा होने के संबंध में पूछा मैंने अपने आप को अविवाहित बताया। महिला से शादी करने की बात कहकर महिला को कई बार रुद्रपुर में अग्रवाल होटल में ले गया वहां उसके साथ शारीरिक संबंध बनाएं और मैं उसे ब्लैक मेल करके उससे पैसे लेता रहा।

उसके द्वारा पैसे न देने पर उसकी लड़की के ससुराल में जाकर रिश्ता तोड़ने की धमकी भी दी थी। जिससे वह मुझे हर महीने पैसे देती रहे और मेरा खर्च चलता रहे। वही पुलिस आरोपी के पुराने आपराधिक इतिहास को खंगाल रही है।

पुलिस को शक है कि आरोपी के संपर्क किसी गैंग से व अन्य गिरोह से नही तो जुड़े हैं।इसे लेकर पुलिस गहनता से जांच कर रही है। पुलिस टीम में उप निरीक्षक ओमप्रकाश,उप निरीक्षक कुसुम रावत, सिपाही मोहन बोरा, महिला सिपाही जानकी बुढलाकोटी शामिल हैं।

ब्यूरो चीफ : एम सलीम खान की रिपोर्ट