राजस्थान में एक और पुलिसकर्मी ने मजबूर महिला को बनाया अपना शिकार, बार-बार किया रेप, निलंबित

अलवर में एक और पुलिसकर्मी की दरिंदगी सामने आई है. यहां के कठूमर थाना इलाके में एक कांस्टेबल (Police Constable) ने महिला परिवादी को उसकी जमीन का विवाद हल कराने का आश्वासन देकर उससे बार-बार रेप किया।

राजस्थान में एक और पुलिसकर्मी ने मजबूर महिला को बनाया अपना शिकार, बार-बार किया रेप, निलंबित
राजस्थान में एक और पुलिसकर्मी ने मजबूर महिला को बनाया अपना शिकार, बार-बार किया रेप, निलंबित

अलवर। डीएसपी हीरालाल सैनी (DSP Hiralal Saini) का महिला कांस्टेबल के साथ स्विमिंग पूल में नहाते हुये का अश्लील वायरल वीडियो केस (Porn viral video case) अभी पूरी तरह से शांत भी नहीं हुआ कि राजस्थान पुलिस (Rajasthan Police) की छवि एक बार फिर दागदार हो गई है।

अलवर जिले के कठूमर थाना इलाके में एक पुलिसकर्मी द्वारा परिवादी महिला से एक बार नहीं बल्कि बार-बार रेप (Rape) करने का मामला सामने आया है। पुलिसकर्मी जब पीड़िता को बुरी तरह से परेशान करने लगा तो उसने मामले की जानकारी पुलिस अधीक्षक को दी। पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर कठूमर थाने में कांस्टेबल और उसके भाई के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. वहीं एसपी ने रेप के आरोपी कांस्टेबल को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।

पुलिस अधीक्षक तेजस्विनी गौतम ने बताया कि कांस्टेबल रामनिवास गुर्जर एक साल पहले अलवर के कठूमर थाने में तैनात था। उस समय एक महिला का जमीन विवाद का मामला कठूमर थाने पहुंचा था। इस दौरान महिला की मुलाकात कांस्टेबल रामनिवास गुर्जर से हुई।

कांस्टेबल उसका विवाद हल कराने का आश्वासन देकर उसके घर आने जाने लगा। इस दौरान कांस्टेबल रामनिवास ने महिला से दुष्कर्म किया। वह करीब एक साल तक उसके साथ जबरन संबंध बनाता रहा। उसके बाद पीड़िता अलवर में बख्तल की चौकी पर परिवार के साथ रहने लगी। यहां भी कांस्टेबल उसके घर जाता और उसके साथ रेप करता रहा।

महिला डीग रहने लगी तो कांस्टेबल वहां पहुंच गया। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि उसके बाद परेशान पीड़िता अपने पति और बच्चों के साथ डीग में रहने लगी। इसकी जानकारी मिलते ही 8 सितंबर को कांस्टेबल रामनिवास डीग गया व उसने पीड़िता के साथ फिर रेप किया।

रामनिवास को उसका भाई डीग लेकर गया था। परेशान पीड़िता ने पुलिस थाने में जाने की जगह सीधा एसपी ऑफिस पहुंचकर उनसे मुलाकात की पूरी घटना के बारे में बताया। इसके बाद पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर कठूमर थाने में कांस्टेबल रामनिवास के खिलाफ रेप और उसके भाई के खिलाफ उसे वहां लेकर जाने का मामला दर्ज किया गया है।

पुलिस अधीक्षक तेजस्विनी गौतम ने बताया कि कांस्टेबल रामनिवास को तुरंत प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। रामनिवास अभी अलवर पुलिस लाइन में तैनात था। उन्होंने कहा कि पूरे मामले की जांच लक्ष्मणगढ़ डिप्टी एसपी को दी गई है। वे इसकी जांच कर रहे हैं। आरोपी कोई भी हो उसको बख्शा नहीं जाएगा। पीड़िता को न्याय दिलवाया जाएगा।

एसपी ने कहा कि वो लगातार संपर्क सभा और पुलिस के कार्यक्रम में पुलिसकर्मियों को जागरुक करती हैं। उसके बाद भी लगातार अलवर जिले में घटनाएं जारी हैं। पुलिस की वर्दी पहनने के बाद एक पुलिसकर्मी की समाज के प्रति जिम्मेदारी ज्यादा रहती है। इस तरह की घटना समाज को शर्मसार करती हैं।